नोकिया किस देश की कंपनी हैं और इसका मालिक कौन हैं ?

हम सभी जानते हैं कि नोकिया हर किसी के जिंदगी का हिस्सा रही है। लेकिन नोकिया को भारत में अपना वर्चस्व स्थापित करने में काफी उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ा था। भारत में इसकी छवि इस प्रकार बन गई थी, जैसे  कारों में मारुति और टूथपेस्थ में कोलगेट। फोन का नाम सुनते ही लोगों के दिमाग में नोकिया की छवि उतर जाती थी। एक जमाना था जब पूरी दुनिया में नोकिया के Keypad Mobiles का ही राज चलता था।

लेकिन कहा जाता है ना कि यदि आप समय के साथ नहीं बदलते तो समय आपको सदियों पीछे छोड़ आगे निकल जाता है। और ऐसा ही कुछ नोकिया कंपनी के साथ भी हुआ। समय ने ऐसी करवट ली कि विश्व में राज करने वाली कंपनी बिकने को मजबूर हो गई। 

हालांकि पिछले कुछ सालों से नोकिया स्मार्टफोन के मार्केट में फिर से आने की कोशिश कर रही है लेकिन अब राहे इतनी आसान नहीं रही।

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेंगे की नोकिया कंपनी के मालिक कौन हैं ? और ये किस देश की कंपनी हैं। और साथ में कई सारी जानकारी हासिल करेंगे इसलिए आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ें जिससे आपको नोकिया कंपनी से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी मिल सके।

नोकिया किस देश की कंपनी है ?

नोकिया फिनलैंड देश की कंपनी हैं एवं इसका मुख्यालय फिनलैंड की राजधानी हेलसिंकी के पड़ोसी शहर कैलानिएमी एस्प्रो में स्थित है।

150 साल पुराना है नोकिया का इतिहास। यह उस समय की बात है जब हमारा भारत गुलाम था। वर्ष 1865 में माइनिंग इंजीनियर फ्रेडरिक इडेस्टैम (Fredrik Idestam) ने अपनी पहली पल्प मील यानी पेपर फैक्ट्री फिनलैंड के शहर टैंपेयर (Tampere) के पास स्थापित की। 

परंतु यह शहर उस समय रूस के अधीन था लेकिन आज  फिनलैंड नाम का एक स्वतंत्र देश यूरोप महाद्वीप में स्थित है। 

कुछ सालों बाद ही 1868 में उन्होंने यहां से 15 किलोमीटर दूर नोकिया शहर में अपनी दूसरी पल्प मील की शुरुआत की। यह शहर नोकियानवेरता नदी के किनारे स्थित था और इसी नदी के नाम पर इसका नाम पड़ा। वहां हाइड्रोपावर की अच्छी सुविधा थी। हालांकि उस वक्त तक नोकिया कंपनी का नाम नहीं था। 

नोकिया कंपनी के मालिक कौन है ? 

फ्रेडरिक इडेस्टैम ने 1871 में अपने दोस्त लियो मैकलीन (Leo Mechelin) के साथ मिलकर एक शेयर्ड कंपनी की शुरुआत की जिसे नोकिया एबी (Nokia Ab ) का नाम दिया गया, यहीं से नोकिया की शुरुआत मानी जाती है।

नोकिया कंपनी का इतिहास ? 

नोकिया आज के समय में एक बहुराष्ट्रीय संसार कंपनी है। इडेस्टैम और मैकलीन कंपनी के पहले co founder बने। उस वक्त तक Nokia पेपर मिल सहित कुछ दूसरे व्यवसाय से भी जुड़ी थी। 

हालांकि दोनों founder में मतभेद था। वे दोनों एक दूसरे की बात और व्यवसाय से सहमत नहीं थे। मैकलीन केबल और इलेक्ट्रॉनिक्स बिज़नेस में अपने कदम आगे बढ़ाना चाहते थे, जबकि इडेस्टैम इनके इस सुझाव से सहमत नहीं थे। 

1896 में इडेस्टैम के रिटायर होने के बाद मैकलीन ने इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में कदम आगे बढ़ाया और 1902 में उन्होंने इलेक्ट्रीसिटी जेनरेशन में हाथ आजमाया। 

1914 तक मैकलीन इसके चेयरमैन रहे। हांलाकि पहले विश्व युद्ध के बाद नोकिया कंपनी दिवालिया घोषित हो गई और इसका अधिग्रहण फिनिश रबर वर्क्स ने कर लिया। नोकिया के  सफर की यह पहली हार थी। अधिग्रहण के पश्चात यह कंपनी काफी आगे बढ़ने लगी।

1932 में फिनिश केबल वर्क्स ने सोउमेन कैपेलाइटहेडस ओवाई का भी अधिग्रहण कर नोकिया कंपनी में मिला लिया। यह कंपनी टेलीफ़ोन, टेलीग्राफ और इलेक्ट्रिकल केबल के क्षेत्र में काम करती थी और नोकिया को मिलाने के बाद यहीं से नोकिया का टेलीकॉम सफर शुरू होता है।

अगले पांच से छह वर्षों तक कंपनी टायर, जूतों, केबल्स, टेलीफ़ोन इक्यूपमेंट के कारोबार में अपना पैर जमाने लगी।

1960 के दशक में कंपनी ने मिलिट्री और आम जनता के लिए मोबाइल रेडियो टेलीफ़ोन के निर्माण की प्रक्रिया चालू की यहां से इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की शुरुआत होती है।

नोकिया ने सबसे पहले एक मोबाइल बनाने वाली कंपनी “Mobira” का अधिग्रहण किया। कंपनी खरीदने के कुछ ही साल बाद सन 1982 में नोकिया ने पहला कार फोन “Mobira senator” को लांच कर दिया।

जिसे लोगों ने काफी पसंद किया। परंतु यह वजन में काफी भारी था। इसके बाद नोकिया ने बिना वक्त गवाए  सन 1983-84 में “मूवीरा टॉकमैन” नाम से नया फोन लांच किया जो कि पिछले वाले फोन से काफी हल्का था।

इसके बाद समय का सदुपयोग करते हुए और लोगों की मांग पर नोकिया ने “मूवीरा सिटीमैन” के नाम से एक फोन और लॉन्च किया जो कि 1987 में लांच हुआ था। इसकी खास बात यह थी कि इसका वजन उन दोनों फोन के वजन से काफी कम था इसका वजन केवल 800 ग्राम था, जो बहुत ही कम था। इस फोन को लोग कहीं भी ला और ले जा सकते थे।

इस फोन के साथ ही नोकिया का प्रभाव धीरे-धीरे पूरे यूरोप और अमेरिका में बढ़ने लगा। वहां पर नोकिया एक प्रमुख ब्रांड के रूप में पहचानी जाने लगी। इसके बाद नोकिया फोन की सीरीज की शुरुआत हुई जो कि 2100 के साथ शुरू हुई।

यह फोन बाजार में आते ही पूरे बाजार में धूम मचा दी  और इसी के साथ नोकिया मोटोरोला कंपनी को पीछे छोड़ते हुए विश्व टेलीकॉम मार्केट में पहले  स्थान पर आ गई। धीरे-धीरे नोकिया का वर्चस्व मार्केट में स्थापित होने लगा और सन 1997-98 तक नोकिया का  बाजार पूरे विश्व बाजार का करीब 30% हिस्सा कवर कर चुका था। 

मतलब पूरे विश्वभर में जितने भी फोन बिकते थे उसका 30% प्रोडक्शन सिर्फ और सिर्फ नोकिया ही करता था। नोकिया ब्रांड ने इस कदर बाजार पर अपनी छाप छोड़ी कि यदि टॉप 50 मॉडल के  मोबाइल फोनों में गिनती की जाए तो उनमे से टॉप 20 तो केवल नोकिया के ही मॉडल् होते थे।

उसके बाद अन्य कई छोटे-छोटे मॉडल्स का नाम आता था। वर्ष 2003 के आसपास नोकिया ने 2 नए मॉडल नोकिया 1110 और नोकिया 1100 लांच किया। इस मॉडल ने तो पूरे भारत के बाजार में तहलका मचा दिया था। शायद आप मे से कई लोगों ने इस फोन का इस्तेमाल जरूर किया होगा।

अब वक्त बहुत तेजी से बदल रहा था दुनिया हार्डवेयर से सॉफ्टवेयर की तरफ चल पड़ी थी। लेकिन नोकिया को इसका अहसास नहीं हो पाया। बदलते परिवेश और लोगों के मांग के अनुसार मुखिया अपने आप में परिवर्तन नहीं कर पाया जो इसकी आज की स्थिति का मूल कारण बना।

Nokia Top Mobile Name

  1. NOKIA 5.4 –  इस मोबाइल का दाम ₹13999 है और इस मोबाइल की फीचर्स की बात करें तो इसकी 4000 एमएएच की बैटरी 6 39 इंच का डिस्पले तथा 4जीबी रैम एवं 16mp फ्रंट कैमरा तथा 8 + 5 +2 + 2 एमपी रियल कैमरा मिलता है।
  2. Nokia 9 – इस मोबाइल का दाम ₹44990 है और इस मोबाइल की फीचर्स की बात करें तो इसमें 6GB रैम 48mp रियल कैमरा 20 एमपी फ्रंट कैमरा 3320 एमएच की बैटरी के साथ-साथ फास्ट चार्जिंग की सुविधा यूजर्स को दी जाती है।
  3. Nokia 6.1 plus – इस मोबाइल का दाम ₹11999 है और इस मोबाइल की फीचर की बात करें तो इस मोबाइल का बैटरी बैकअप 3020 एमएच की है एवं 6GB रैम के साथ 16mp फ्रंट कैमरा 16mp+ 5mp डुएल प्राइम कैमरा एवं इसकी डिस्प्ले 5.8 इंच है जोकि देखने में भी काफी अच्छी दिखाई देती है।
  4. NOKIA 5.1 Plus – इस मोबाइल का दाम ₹14927 है तथा इसकी टीचर्स की बात करें तो उसमें 16mp प्राइम कैमरा 3000 एमएच की बैटरी 3GB रैम के साथ 7 5 प्रो 5 इंच का डिस्प्ले देखने को मिलता है।
  5. Nokia X5 –  इस मोबाइल का दाम ₹10999 है और इस फीचर्स की बात करें तो 5.80 इंच का डिस्पले अट्ठारह एमपी डबल प्राइम कैमरा 8 एमपी फ्रंट कैमरा 3007 एमएच की बैटरी 3GB रैम के साथ साथ ऑक्टको 1.8 जीएचजेड परफॉर्मेंस है।

Nokia कंपनी में बनने वाले product की list

  • Mobile Phone Featured Phone
  • GPS Products
  • VR Cameras
  • Wi-fi Routers
  • COMPUTER Display
  • Digital Audio
  • Computers
  • Smart tv
  • WLAN Product
  • Telephone Switches
  • Tablets
  • Operation System
  • Digital Television
  • Military Communications And Equipment
  • COMPUTER
  • Mobile Phone

नोकिया कंपनी से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य –

  1. Nokia Company के CEO राजीव सूरी हैं जो कि एक इंडियन नागरिक हैं।
  2. Nokia Company का सबसे अधिक बिकने वाला मोबाइल फोन नोकिया 1100  था। यह दुनिया में सबसे अधिक बिकने वाले मोबाइल फोन में से एक था। 
  3. Nokia Company का व्यापार आज के समय में लगभग 165 से भी अधिक देशों में फैली हुई है।
  4. Nokia का Nokia 9 pureview सबसे महंगा मोबाइल फोन है।
  5. दुनिया का एक ऐसा पहला मोबाइल Nokia 9 pureview है जिसमें आपको 41MP का सेंसर और 5 कैमरा है।
  6. Nokia और माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने इतिहास की एक सबसे बड़ी डील की थी जिसका amount 7.2 अरब डालर था।

निष्कर्ष ( Conclusion )

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से आप ने जाना कि Nokia किस देश की कंपनी हैं और नोकिया कंपनी के मालिक कौन हैं ?दोस्तों आशा करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इससे सोशल मीडिया पर शेयर करें जिससे अन्य लोग भी नोकिया कंपनी के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकें तथा यदि आपके मन में कोई भी इस पोस्ट से संबंधित प्रश्न हो तो नीचे कमेंट के माध्यम से अवश्य पूछे हम आपके प्रश्नों के उत्तर अवश्य देंगे धन्यवाद!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *